Health Tips

कोरोना वायरस सेफ्टी टिप्स – इम्युनिटी बढ़ाने के उपाय

ये बहुत दुर्भाग्य की बात है की आज संसार के सभी देश कोरोना जैसी भयानक महामारी से परेशान  हैं।संसार के सभी वैज्ञानिक इसका इलाज ढूंढने में लगातार मेहनत कर रहें हैंऔर हमे यकीन है की जल्दी ही इसका उपचार ढूंढ लिया जायेगा।इस बीमारी से सबसे ज्यादा खतरा उन लोगो को है जिनकी इम्युनिटी या रोग प्रतिरोधक क्षमता कम है या वो व्यक्ति जो पहले से ही बीमार या  ज्यादा बुजुर्ग हैं।

कोरोना वायरस सेफ्टी टिप्स इम्युनिटी बढ़ाने के उपाय

भले ही अभी तक कोरोना वायरस का कोई इलाज न मिला हो लेकिन यदि हम डॉक्टर्स के सलाह माने और सोशल डिस्टेंसिंग के साथ साथ अपने शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बेहतर रखें तो हम इस महामारी के प्रकोप से बच सकते हैं।

गंगाराम हॉस्पिटल के आयुर्वेदिक विषयज्ञ डाक्टर परमेश्वर अरोरा ने आज एक न्यूज़ चैनल के माध्यम से कुछ महत्वपूर्ण सुझाव साझा किये।

इस पोस्ट के माध्यम से हम उन्ही के द्वारा दिए गए सुझावों को आप तक लाने का प्रयास कर रहे हैं।

शरीर के रोग प्रतिरोधक क्षमता को प्राकृतिक रूप से बढ़ाने के लिए नीचे दिए गए नुस्खे बहुत कारगर हैं

आंवला

आंवला विटामिन सी का सबसे अच्छा स्रोत है, बाकि किसी दूसरे स्रोत की तुलना में।  बेहतर होगा की आप आंवला का इस्तेमाल करें, यह शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता, को बढ़ाने में मदद करता है और सर्दी और खांसी सहित वायरल और बैक्टीरियल बीमारियों को रोकता है।

आयुर्वेद के अनुसार, आंवले का रस शरीर की सभी प्रक्रियाओं और तीनों दोषों- वात, कफ, पित्त में संतुलन लाता है। विटामिन सी में एंटीऑक्सीडेंट तत्त्व पाए जाते है,  आंवला का सेवन अधिक से अधिक  करें।

आंवला को आप कई तरह से इस्तेमाल कर सकते हैं, जैसे :- आंवला का मुरब्बा, चटनी , पाउडर ,च्यवनप्राश, जूस  और आप आवंले को उबाल कर नमक लगा कर भी खा सकते हैं।

पका हुआ तेल

आम का पत्ता या  पीपल का पत्ता सरसों के तेल में पका कर छान कर रख लें और इसे ऊँगली की सहायता से अपनी नाक में लगा लें यह आपके लिए एक बायोलॉजिकल बैरियर की तरह काम करता है, आयुष मंत्रालय भी इसी तरह तेल लगाने को रेकमेंड कर रहा है।

लौंग या पान चबाना

काली मिर्च, लौंग, या  अजवाइन के साथ थोड़ा सेंधा नमक लगा कर चूसने से वायरस को मुँह में ही बेअसर कर सकते है। आप चाहे तो पान के पत्ते पर कत्था लगा कर लौंग, इलायची, काली मिर्च डाल  कर भी सेवन कर सकते हैं।

गरारे करना

नमक और हल्दी को पानी में मिला कर गरारे करने से भी काफी हद तक गले को प्रोटेक्शन मिलता है। आप चाहे तो इसी पानी से भाप भी ले सकते है ये आपको बाहरी सुरक्षा कवच प्रदान करता है।   

काढ़ा

आप काली मिर्च, लौंग,अजवाइन, तुलसी के पत्ते को पानी में पका कर काढ़ा बना कर पी सकते हैं।

गुन्डुषा (आयल पुलिंग )

थोड़ा  सा तेल जैसे नारियल,तिल, या सरसों को १ बड़े चम्मच लेकर मुँह में ५ से १० मिनट तक घुमाये यानि कुल्ला करें और बाद में थूक दें यह आपके शरीर के टॉक्सिन्स यानि विषाक्त पदार्थ,मुँह में मौजूद बैक्टीरिया को निकालने  में बहुत मदद करेगा और साथ ही आप शरीर में नयी ऊर्जा भी महसूस करेंगे। आयल पुलिंग आप ब्रश करने बाद या पहले अपनी इच्छनुसार कर सकते हैं।

मुनक्का

इसे आप सुबह और शाम में अपनी सुविधानुसार प्रयोग करें| इसे रात में पानी में भिगो दें और सुबह उठकर खली पेट इनका सेवन करें और बचा हुआ पानी भी पी जाएँ।  मुनक्का रात को दूध के साथ भी ले सकते हैं। यह आपकी प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में मदद करेगा। 

हल्दी का दूध

हल्दी का दूध भी प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में बहुत मददगार साबित हो सकता है,

१ गिलास दूध में 1छोटा चम्मच हल्दी मिला कर गरम करके पिए।जिन्हें दूध पचाने में  दिक्कत रहती वे हल्दी के साथ कुछ चुटकी सौंफ मिलाकर पी सकते हैं|

इसके अलावा थोड़ा सा दूध और पानी,और हल्दी मिला कर गरम करके भी पी सकते हैं।

यह बात ध्यान में रखने योग्य है की ये सभी आयुर्वेदिक नुस्खे कोरोना से बचने के सटीक उपाय नहीं है ये मात्र हमारे शरीर की रोग प्रतिरोध क्षमता को बढ़ने के लिए है।

यदि हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता सही होती है तो हमे कोई भी बीमारी होने के खतरा न के बराबर होता है और उसके साथ ही यदि हमे कोई बीमारी हो भी जाती है तो हम उससे जल्दी से जल्दी ठीक हो सकते हैं। अपना और अपने परिवार का ख्याल रखें घर में रहें सुरक्षित रहें।

Click on below link to get News Interview video

Thank you!


1 Comment

Leave a Reply

%d bloggers like this: